Breaking

Saturday, November 13, 2021

12वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा को स्कूल शिक्षक ने किया यौन उत्पीड़न।#justiceforpontharani

 एक नाबालिका छात्रा को स्कूल में ही किया गया शिक्षक और अन्य दो लोगों के द्वारा यौन उत्पीड़न।


मां बाप अपने बच्चों की भविष्य बेहतर बनाने के लिए ना जाने उनके लिए कितने अच्छे काम करते रहते हैं।मां बाप अपने बच्चे के भविष्य बेहतर बनाने के लिए उन्हें अच्छी शिक्षा देने के लिए ना जाने कितने परिश्रम भी करते हैं#justiceforpontharani।

12वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा को स्कूल शिक्षक ने किया यौन उत्पीड़न।#justiceforpontharani
#justiceforpontharani


मां बाप यह सोचते हैं कि अगर हम हमारे बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे तो आगे जाकर वह अपनी जिंदगी बहुत ही खुश रहकर और दुख से दूर रह कर अपने जीवन को जी पाएंगे। अगर उन्हें अच्छी शिक्षा दी जाएगी तो वहां भविष्य में एक अच्छी जगह पर नौकरी करेंगे और मां-बाप का नाम रोशन करेंगे और साथ ही साथ मां बाप का ध्यान भी रखेंगे  मां बाप बूढ़े हो जाए तो।

इसीलिए मां बाप अपने बच्चों को एक अच्छी स्कूल में भर्ती करवाते हैं जहां पर उन्हें अच्छी शिक्षा प्राप्त करने को मिलती है और वहां अच्छे अच्छे शिक्षक शिक्षिका भी रहती है जो उन्हें अच्छी तरह से शिक्षा प्रदान करती है#justiceforpontharani।

अगर शिक्षक ही छात्रा की भविष्य खराब कर देंगे तो शिक्षा व्यवस्था के ऊपर बहुत बड़ा कलंक लग जाएगा।#justiceforpontharani

ऐसा ही आज हुआ है कोयंबटूर में जहां पर एक छात्रा जोकि 12वीं क्लास में पढ़ती थी उसका यौन उत्पीड़न हुआ है शिक्षक के द्वारा। यौन उत्पीड़न होने के बाद छात्रा ने आत्महत्या कर ली जिसके बाद उनके परिवार के लोगों में शिक्षक के ऊपर से भरोसा ही उठ गया है।#justiceforpontharani


12वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा को स्कूल शिक्षक ने किया यौन उत्पीड़न।#justiceforpontharani


17 वर्षीय मृतक पोन थरानी के नाम से  पहचाना गया है, वह 12 वीं कक्षा में अपनी पढ़ाई कर  रही थी।

  मगुदेश्वरन के यहाँ जन्मी, वह अपने परिवार के साथ कोयंबटूर के कोट्टैमेडु में रह रही थी।  बताया गया है कि पोन चिन्मय विद्यालय मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल में 12वीं की पढ़ाई कर रही थी, जहां उसका यौन उत्पीड़न किया था।  अपने माता-पिता के ध्यान में इस बारे में लाने के बाद, पोन थारानी को कुछ महीने पहले दूसरे स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया था।#justiceforpontharani


 पोन थरानी के साथ उस दिन क्या हुआ था जानिए पूरी सच्चाई।#justiceforpontharani


सूत्रों से यह पता चला है कि।   गुरुवार को जब कमरे में कोई नहीं था तो पोन थरानी ने अपना कमरा बंद कर लिया और पंखे से लटक कर जान दे दी।  मृतक के माता-पिता ने उक्कदम थाने में कानूनी शिकायत की थी।  शिकायत पत्र में, माता-पिता ने उल्लेख किया है कि उनकी बेटी ने एक स्कूल शिक्षक और दो अन्य लोगों के नाम पर एक सुसाइड नोट छोड़ा है, जिन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया था। इस घटना के बाद पोन थरानी ने अपनी जिंदगी को खत्म कर दिया इन हवस के भूखे भेड़ियों के चलते। अगर शिक्षक ही ऐसा घिनौना काम करेगा तो हम इस पर भरोसा करेंगे। हम अपने बच्चों को स्कूल में अच्छी शिक्षा लेने के लिए भेजते हैं और वहां पर अगर हमारे बच्चों के साथ ऐसी घिनौनी वारदात हो जाएगी तो कौन अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देना चाहेगा और कौन सी अपने बच्चों को स्कूल में भर्ती करना चाहेगा।#justiceforpontharani


आरोपी शिक्षक को हिरासत में ले लिया गया है।#justiceforpontharani


पीड़िता के माता-पिता द्वारा किए गए विरोध के बाद मिथुन चक्रवर्ती नाम के एक शिक्षक को हिरासत में ले लिया गया है।  उन पर यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के तहत मामला दर्ज किया गया था।  सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक चिट्ठी घूम रही है, जिसमें दावा किया गया है कि यह पीड़िता ने अपनी जान लेने से पहले लिखा था#justiceforpontharani।


No comments:

Post a Comment