Breaking

Saturday, September 4, 2021

Rohtak murder case.जेंडर चेंज कराने के लिए मांगे थे 5 लाख रुपए पैसे ना देने पर अपने ही परिवार के लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

 

जेंडर चेंज कराने के लिए मांगे थे 5 लाख रुपए । पैसे ना देने पर अपने ही परिवार के लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस के मुताबिक, मोनू का उत्तराखंड के नैनीताल के एक युवक के साथ पिछले 4 साल से दोस्ताना संबंध था. जबकि दोनों की दोस्ती दिल्ली में केबिन क्रू कोर्स के दौरान हुई. पुलिस सूत्रों के अनुसार, जेंडर चेंज कराने के बाद मोनू अपने दोस्त के साथ विदेश भागना चाहता था. यही नहीं, वह परिवार से 5 लाख रुपये मांग रहा था, लेकिन परिवार को इस बात पता चला तो उन्होंने रुपये देने से मना कर दिया. यही नहीं, उसने अपने सीने पर दोस्त का टैटू भी गुदवा रखा था.

जेंडर चेंज कराने के लिए मांगे थे 5 लाख रुपए । पैसे ना देने पर अपने ही परिवार के लोगों को मौत के घाट उतार दिया। Rohtak murder case.murder-case-four-people-rohtak-haryana-5lakh-rupees-demanded-gender-change-not-paying-money-people-family-put-to-death
जेंडर चेंज कराने के लिए मांगे थे 5 लाख रुपए पैसे ना देने पर अपने ही परिवार के लोगों को मौत के घाट उतार दिया।


ऐसे दिया Abhishek ने हत्‍याकांड को अंजाम

पुलिस के मुताबिक, मोनू ने सबसे पहले अपनी बहन तमन्ना उर्फ तन्नू, फिर नानी रोशनी, मां संतोष उर्फ बबली और पिता प्रदीप मलिक उर्फ बबलू को मारा था. हत्याकांड का मुख्य आरोपी अभिषेक उर्फ मोनू मृतक बबलू का इकलौता बेटा है और जाट कॉलेज में बीए फर्स्ट ईयर का छात्र है.
रोहतक.

अपने ही परिवार को मौत के घाट उतारने और एक खुशहाल परिवार को उजाड़ने  वाला आरोपी मोनू समलैंगिक है.

हरियाण के रोहतक की विजय नगर कॉलोनी में पिछले शुक्रवार को हुई चार लोगों की हत्या (Rohtak Murder Case) की गुत्‍थी को पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस के मुताबिक, 20 साल के बेटे ने ही अपने मां-बाप, बहन और नानी की हत्या किया. आरोपी अभिषेक उर्फ मोनू को पुलिस ने गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है. रोहतक पुलिस (Rohtak Police) की पूछताछ में हैरान कर देने वाला खुलासा सामने आया है. जहां पर अपने ही परिवार को मौत के घाट उतारने और एक खुशहाल परिवार को उजाड़ने  वाला आरोपी मोनू समलैंगिक है.

 सेक्स रिअसाइन्मेंट सर्जरी के जरिए अपना जेंडर चेंज कराना चाहता था मोनू

पुलिस पूछताछ में पता चला है कि मोनू ने  सेक्स रिअसाइन्मेंट सर्जरी के जरिए अपना जेंडर चेंज कराना चाहता था. वह पिछले एक साल से सर्जरी के लिए इंटरनेट पर इस तरह के क्लीनिक की जानकारी जुटा रहा था. यही नहीं, वह अपना जेंडर चेंज कराकर उत्तराखंड के दोस्त के साथ विदेश भागना चाहता था. पुलिस के मुताबिक, वह अपने इस काम को अंजाम दे पाता, उससे पहले परिवार को इसका पता चला तो उसे जमकर पीटा और उसे समझाने की कोशिश भी की लेकिन वह नहीं माना. इससे गुस्सा होकर उसने वारदात को अंजाम दिया. हालांकि इस हत्याकांड में पहले प्रॉपर्टी विवाद बताया जा रहा था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है.

No comments:

Post a Comment