Breaking

Thursday, May 27, 2021

Maks ना लगाने पर बरेली के पुलिस ने युवक के हाथ और पैरों में कील ठोक दिया।

 Maks ना लगाने पर बरेली के पुलिस ने युवक के हाथ और पैरों में कील ठोक दिया।


लॉकडाउन में ऐसी घटना हुई है जिस घटना को अगर आप पढ़ेंगे तो आप भी डर जाएंगे।

 आपने देखा ही होगा अगर हम बिना maks के बाहर निकलते हैं जरूरी काम के लिए तो पुलिस हमें सतर्क करती है और हमें डांट भी लगाती है ।

कहती है कि बिना maks के बाहर मत जाया करिए क्योंकि आप को नुकसान हो सकता है और इस तरह बोलकर पुलिस हमें सतर्क कर देती हैं और सावधान रहने को कहते हैं।

और ज्यादा से ज्यादा अगर आप बिना maks लगा कर बाहर घूमेंगे तो पुलिस आपसे चालान काटती है।


Maks ना लगाने पर बरेली के पुलिस ने युवक के हाथ और पैरों में कील ठोक दिया।
Maks ना लगाने पर बरेली के पुलिस ने युवक के हाथ और पैरों में कील ठोक दिया।



लेकिन आज जो घटना हुई है वह घटना आपको एक पल के लिए डरा देगी क्योंकि यह घटना इतनी भयानक है कि आप सोच नहीं सकते कि पुलिस ऐसा भी काम कर सकती है क्या maks ना लगाने पर।


यह खबर बरेली से है जहां पर एक व्यक्ति ने बिना मास्क लगाए हुए जरूरी काम के लिए बाहर निकला था।तो पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया लेकिन उसके बाद जो हुआ वह आपको सच में डरा देंगे। पुलिस उसे आपदा कानून के तहत लॉकअप में डाल देती है। उसके बाद अगले दिन जब उसे बाहर निकाला जाता है तो उसके हाथ और पैरों में कील ठोकी हुई मिलती हैं।


डर गए ना आप भी अगर बिना maks के जरूरत के समय अगर हम बाहर निकलते हैं तो पुलिस हमारे हाथ और पैरों में किल्ली ठोक देंगे यह क्या बात हुई भला।


परिजनों ने दावा किया है कि इसे बिना maks के पकड़े जाने पर इसके हाथ और पैरों पर कील ठोक दी गई है दो सिपाहियों के द्वारा।


थाने के एसएसपी ने जांच पड़ताल किया इस घटना का


लेकिन एसएसपी ने जांच पड़ताल करते हुए कहा कि यह व्यक्ति भागने की कोशिश कर कर रहा था तो इस दौरान 2 सिपाही ने रोक रहे थे तो यह दो सिपाहियों को मारने लगा और भागने की कोशिश करने लगा।

यह घटना 24 मई को हुई है बारादरी में जोगी नवादा में रहने वाले रंजीत की है। संगीत के परिवार परिजनों ने यह कहा कि बिना मास के यहां जरूरत के समय बाहर निकला था तो पुलिस ने इसे बिना maks पहनने के लिए इसे थाने ले गए ।और अगले ही दिन रात को 10:00 बजे हमें खबर मिली कीहमारे मोहल्ले के एक मैदान में रंजीत बेसुध होकर पड़ा हुआ है तो हम दूर कर मैदान गए तो वहां पर हमने जो देखा वह देखते ही हम भी चौक गए।


रंजीत के परिजन ने लगाया आरोप दो सिपाहियों पर कील ठोकने की


परिजनों ने कहा जब हमने रंजीत को देखा तो रंजीत के दोनों हाथ और दोनों पैरों में एक-एक करके कील ठोकी हुई थी। तो परिजनों ने कहा कि जब यह बिना maks बाहर निकले थे तो दो सिपाही ने पकड़ कर थाने ले कर गए और वहीं पे दो सिपाहियों ने पीटा और इनके हाथ और पैरों पर कील ठोक दिया।

 परिजनों ने एक हाथ और एक पैर से एक-एक कील निकाली और इसी हालत बुधवार को रंजीत को थाने लेकर गए और एसएसपी रजवाड़ा के पास पहुंचे और जैसे ही एसएससी ने यह देखा तो उन्होंने उसे अस्पताल भेजा और जांच पड़ताल से यह पता चला कि।


24 मई को चीता मोबाइल थाना की पुलिस हरिओम वहां navada पर गश्त कर रहे थे और जैसे ही रंजीत को देखा बिना मार्क्स के वह बेवजह घूम रहे थे तो उन्होंने रंजीत को पकड़ने की कोशिश की लेकिन रंजीत ने २ सिपाही को मारने की कोशिश की और वहां से भाग निकला.


रंजीत ने सिपाहियों को फसाने की कोशिश की


एसएसपी सागवाड़ा ने बताया कि रंजीत पुलिस से बचने के लिए और इन दो सिपाही को आरोप लगाने के लिए चेकिंग के द्वारा भाग निकला और अपने ही दोस्तों को अपने ही हाथ और पैरों में कील ठोकने की सलाह दी जिसके बाद दोस्तों ने उसके हाथ और पैरों पर कील ठोकी होगी और वह पुलिस को फसाने की कोशिश करने लगा।


आरोपी को पकड़ लिया गया


इसके बाद रंजीत और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्हें थाने ले जाया गया।

पुलिस से बचने के लिए इतनी पागलों वाली हरकत करने की क्या जरूरत थी । भला कोई पुलिस से बचने के लिए अपने हाथों और पैरों में कील ठोको आता है।


आपको यह घटना पढ़कर कैसा लगा कमेंट बॉक्स में जरूर बताना।


8 महीने की बेटी को लेकर मदद की गुहार मांग रही है सबीना । लोगों से न्याय की मांग कर रही है

No comments:

Post a Comment