Breaking

Saturday, May 1, 2021

अल्मोड़ा में एक लड़की से मिलने के लिए ग्रामीणों ने लड़के को मौत के घाट उतार दिया गया।

 अल्मोड़ा में एक लड़की से मिलने के लिए लड़के को मौत के घाट उतार दिया गया।


अल्मोड़ा जिले के आरासलपड़ जिसे  सरयूघाटी भी कहा जाता है। वहां पर किशोरी से मिलने के लिए एक लड़के को ग्रामीणों ने पीटकर हत्या कर दिया ।#justicebhuwanJoshi

पूरी घटना यह है कि उत्तराखंड का रहने वाला भुवन चंद्र जोशी नाम का एक लड़का जिसकी उम्र 22 साल बताई जा रही है। 

अल्मोड़ा में एक लड़की से मिलने के लिए लड़के को मौत के घाट उतार दिया गया। bhuwan Joshi murder case।#justicebhuwanJoshi
#justicebhuwanJoshiअल्मोड़ा में एक लड़की से मिलने के लिए लड़के को मौत के घाट उतार दिया गया।



भुवन जोशी के साथ एक लड़की की दोस्ती हुई थी जिसकी उम्र 16 साल बताई जा रही।

इस लड़की ने भुवन जैसी को फोन करके अपने गांव बुलाया मिलने के लिए।


Bhuwan Joshi अपने साथ एक दोस्त को बुधवार शाम को इस लड़की के गांव में लेकर जाता है इस लड़की से मिलने के लिए।


लड़की से मिलने के लिए जब यह गांव जाता है तब लड़की के गांव वालों ने इन दोनों को एक साथ देख लिया।

जैसे ही लड़की ने अपने गांव वालों को देखा उसी समय लड़की ने भुवन जोशी को छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया।


जिसके बाद ऐसी शर्मसार करने वाली घटना हुई जो की बहुत ही निंदनीय घटना है।


लड़की के गांव वाले ने बिना किसी प्रमाण के और इस लड़के की बात ना सुनते हुए लड़के को बड़ी बेरहमी से मारा और उसे जख्मी कर दिया।


लड़की के पिता ने इन तीनों लड़कों पर बुधवार रात को मुकद्दमा दायर किया छेड़छाड़ करने का।

के बाद पुलिस ने इन लड़कों के ऊपर पोस्को एक्ट जारी किया। और छेड़छाड़ का मामला भी दर्ज किया।


और पुलिस इन्हें इस जख्मी हालत में  पाए जाने पर  इन्हें धौलादेवी पर मेडिकल जांच करवाया ।

उसके बाद भुवन जोशी को गिरफ्तार किया गया और उसे थाने ले जाया गया।


लेकिन गुरुवार को सुबह 10:00 बजे के करीब भुवन जोशी की हालत अचानक  खराब होने लग गई थी ग्रामीणों की पिटाई से ।


भुवन जोशी की इस हालत को देखते हुए पुलिसओं ने इसे सीएचसी  में भर्ती करवाया जिसके बाद मध्याह्न 12 बजे bhuwan Joshi की मौत हो गई।


जैसी ही भुवन जोशी की मौत हो गई उसके बाद पूरे उत्तराखंड में भुवन जोशी को न्याय मिले इसके लिए पूरा उत्तराखंड न्याय की मांग कर रहा है।


लोग यह भी कह रहे हैं अगर भुवन जोशी की कोई भी गलती थी तो उसे पुलिस के हवाले कर देना चाहिए था इसे इस तरह बड़ी बेरहमी से जो ग्रामीणों ने मारा है यह बहुत ही निंदनीय और शर्मसार करने वाली काम है।

अगर भुवन जोशी दोषी रहता तो पुलिस उसे सजा देती है । अगर वह निर्दोष रहता तो वहां आज नहीं मारा जाता।


इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रही है जहां पर आप देख सकते हैं कि भुवन चंद्र जोशी को ग्रामीणों ने बहुत ही बुरी तरह से मारा है और उसकी किसी भी बात को ग्रामीणों ने मानने से इनकार किया और ना ही भुवन जोशी की किसी भी बात को ग्रामीणों ने सुना।


इतना ही नहीं भुवन जोशी को अपनी सफाई भी नहीं देने दिया ग्रामीणों ने।


छोटे से लेकर बड़े तक सभी ने भुवन जोशी और उसके साथी को बहुत बेरहमी से मारा जिसे आप इस वायरल वीडियो पर देख सकते हैं।


जब पूरा उत्तराखंड भुवन जोशी की न्याय का मांग कर रहा है इसी बीच पुलिस ने एक अच्छी काम भी की है पुलिस ने इस मामले को देखते हुए बहुत ही जल्दी एक्शन लिया है और तीन आरोपी को गिरफ्तार भी किया गया है।


पुलिस ने इन तीन लोगों के साथ-साथ और भी 8 अपराधियों के खिलाफ 149/147/304 के तहत मामला दर्ज किया है।


पुलिस ने हरीश पांडे, नर सिंह और साथ ही साथ हरीश चंद्र पांडे को गिरफ्तार किया है।


ग्रामीणों ने एक भी बार नहीं सोचा कि हर बार लड़के गलत नहीं होते हैं कभी-कभी लड़कियां भी गलत हो सकती है।

इन ग्रामीणों ने एक बार भी इस लड़के की बात सुनी होती या फिर इसने जो सफाई देने की कोशिश की थी अगर ग्रामीणों ने इसकी सफाई सुनी होती तो आज यह हंसता खेलता परिवार में जो दीपक है वह नहीं बुझता।

आज फिर से  ग्रामीणों ने मिलकर एक हस्ती खेलती परिवार के दीपक को बुझा दिया। बुढ़ापे के सहारे को मौत के घाट उतार दिया।


अगर आप भी उत्तराखंड के रहने वाले हैं अगर आप भी चाहते हैं कि भुवन चंद्र जोशी को न्याय मिले तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि लोगों तक यह खबर फैल जाए और वह भी भुवन जोशी की न्याय की मांग करें।


आपकी शहर की हर एक खबरें पढ़ने के लिए गूगल में सर्च करें natinol.com और सबसे पहले आपकी शहर की खबरें पाइए।



No comments:

Post a Comment