Breaking

Sunday, April 18, 2021

असली ज्ञान गंगा किताब ।

असली ज्ञान गंगा किताब खरीदें

ज्ञानगंगा किताब एक ऐसी किताब है जिस किताब में आपके सारे दुखों का निवारण लिखा हुआ है।

इस किताब में आप हमारे हिंदू धर्म में जितने भी देवी देवता है उनके बारे में भी लिखा हुआ है।


buy ज्ञान गंगा book only 10 rupees



आप में से बहुत ऐसे लोग हैं जिन्होंने एक 1000 से लेकर ₹3000 तक की किताब खरीद चुके हैं लेकिन इस किताब में आपको आपके जो सवाल के जवाब चाहिए वह जवाब नहीं मिले हैं।

आपको घबराने की जरूरत नहीं है हम यह किताब आपको सिर्फ ₹15 में मुहैया करवा देंगे और यह किताब में आपको जीवन के हर एक सवाल के जवाब मिल जाएंगे।


अगर आप सोच रहे हैं कि हमारे हिंदू धर्म में कुछ देवी देवता है जिनके बारे में आपको पता नहीं है या फिर उन्होंने कुछ गलत काम किया था यह गलत काम क्यों किया था या फिर उनके साथ यह गलत काम करने के बाद क्या हुआ था उन्हें क्या सजा मिली थी यह आप इस किताब से जान पाएंगे।


भी बहुत थी कुछ जीवन को सफल बनाने के लिए जवाब लिखे गए हैं जिसे पढ़कर आप जीवन में सफल भी बन सकते है।


1. भक्ति मर्यादा (प्रस्तावना)

• नाम कौन से राम का जपना है ?

• नाम (दीक्षा) लेने वाले व्यक्तियों के लिये आवश्यक जानकारी-8

2. सृष्टि रचना

20

• आत्माएं काल के जाल में कैसे फंसी?

22

• श्री ब्रह्मा जी, श्री विष्णु जी व श्री शिव जी की उत्पत्ति 25

• तीनों गुण क्या है

26

• ब्रह्म (काल) की अव्यक्त रहने की प्रतिज्ञा

27

• ब्रह्मा का अपने पिता (काल/ब्रह्म) की प्राप्ति के लिए प्रयत्न 29

• माता (दुगा) द्वारा ब्रह्मा को शाप देना

30

• विष्णु का अपने पिता (काल/ब्रह्म) की प्राप्ति के

लिए प्रस्थान व माता का आर्शिवाद पाना

31

. परब्रह्म के सात संख ब्रह्मण्डों की स्थापना

36

• पवित्र अथर्ववेद में सृष्टि रचना का प्रमाण

38

• पवित्र ऋग्वेद में सृष्टि रचना का प्रमाण

42

• पवित्र श्रीमद्देवी महापुराण में सृष्टि रचना का प्रमाण- 47

• पवित्र शिव महापुराण में सृष्टि रचना का प्रमाण 48

• पवित्र श्रीमद्भगवत गीता जी में सृष्टि रचना का प्रमाण

• पवित्र बाईबिल व पवित्र कुनि शरीफ में सृष्टि रचना का प्रमाण 52

• पूज्य कबीर परमेश्वर (कविर् देव) जी की अमृत वाणी में

सृष्टि रचना

• आदरणीय गरीबदास साहेब जी की अमृतवाणी में सृष्टि रचना

का प्रमाण

56

• आदरणीय नानक साहेब जी की वाणी में सृष्टि रचना का संकेत 61

अन्य सन्तों द्वारा सृष्टि रचना की दन्त कथा

64

3. कौन तथा कैसा है कुल का मालिक ?

• आदरणीय धर्मदास साहेब जी 'कबीर परमेश्वर' के साक्षी 67

• आदरणीय दादू साहेब जी 'कबीर परमेश्वर' के साक्षी- 68

• आदरणीय मलूकदास साहेब जी 'कबीर परमेश्वर' के साक्षी 69

• आदरणीय गरीबदास साहेब जी 'कबीर परमेश्वर के साक्षी 69

53

.

66

आदरणीय नानक जी द्वारा 'गुरु ग्रंथ साहेब' में 'कबीर

परमेश्वर' का प्रमाण

71

• प्रभु कवीर जी ने स्वामी रामानन्द जी को तत्वज्ञान समझाया 72

4. पवित्र शास्त्र भी कबीर परमेश्वर (कविर्देव) के साक्षी - 83

5. कबीर साहेब चारों युगों में आते हैं

90

• सतयुग में कविर्देव (कबीर साहेब) का सतसुकृत नाम से प्राकाट्य 


यह ज्ञान गंगा किताब हमारे इस वेबसाइट से  इस हफ्ते 7000 किताबें बिक चुकी है।


अभी भी लोग ऑर्डर कर रहे हैं हमारे पास अभी भी 5000 किताब बचे हुए हैं अगर आप यह किताब लेना चाहते हैं तो जल्दी से नीचे दिए गए शब्द को पूरा करें और यह किताब ले सकते हैं।


अभी तक ऐसा कोई भी नहीं है जिन्हें यह किताब नहीं मिली पैसे देने के बाद।



और सबसे बड़ी बात यह है कि आपके दिए हुए पैसे इस कोरोना महामारी के समय जितने भी अनाथ आश्रम है या फिर जितने भी गरीब बच्चे हैं उनके कामों के लिए उनके खाने-पीने के लिए और उनके पहनने के लिए यह पैसा दे दिया जाएगा।


अगर आप यह ज्ञान गंगा किताब एकदम मुफ्त में लेना चाहते हैं। बिना किसी ₹15 दिए हुए तो आप अपना नाम पता और फोन नंबर नीचे कमेंट बॉक्स में लिख दे और आपको यह किताब 30 दिन के अंदर मिल जाएगी

अगर आप का पता और फोन नंबर और आपका नाम सही लिखा होगा तो यह किताब आपको 30 दिन के अंदर मिल जाएगी। और आपको यह किताब दूसरों तक भी शेयर करनी होगी हमारे इस वेबसाइट से।




आपके इस किताब खरीदने से कुछ गरीब बच्चों का पेट भी चल सकता है और वह अच्छे-अच्छे कपड़े भी पहन सकते हैं इसलिए हम चाहेंगे कि आप यह किताब खरीदने के बाद आपने बच्चों के भी यह किताब   पढ़ाइए।


ज्ञान गंगा किताब को खरीदने के लिए  आपको नीचे दिए गए कुछ शर्त का पालन करना पड़ेगा।

 

आपको  PAYTM wallet number 6290277400 इस नंबर पर आपको ₹15 payकरना है।



Agar aap paytm wallet mein 15 rupya pey kar dete Hain uske bad aapko screenshot hamare comment box mein bhejna hoga।


उसके साथ-साथ आप जिस जीमेल में यह किताब लेना चाहते हैं उस Gmail address को आपको कमेंट बॉक्स में डालना या फिर लिखना  होगा।



screenshot देखने के बाद ही  5 से 10 मिनट के अंदर आपके जीमेल में या किताब चली जाएगी।

हमारी टीम आपको 5 मिनट के अंदर ही यह किताब आपके Gmail में पहुंचा देगी



No comments:

Post a Comment